ताज़ा खबरें ईमेल पर

#ट्रेंडिंग न्यूज़

booked.net
Trending Now
Loading...

विविध संस्कृतियों में विज्ञान संचार : पंथ-प्रधानों की भूमिका” पर राष्ट्रीय वेबीनार 18 अक्टूबर को

भोपाल। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद और स्पंदन संस्था द्वारा राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है।  वेबिनार का विषय – “विविध संस्कृतियों में विज्ञान संचार : पंथ-प्रधानों की भूमिका” है. यह आयोजन ज़ूम प्लेटफॉर्म पर 18 अक्टूबर को अपराहन 3 बजे से होगा।  वेब-संगोष्ठी में विद्वान् वैज्ञानिक, संचारक और पंथ-प्रतिनिधि इस विषय पर विमर्श करेंगे कि विविध संस्कृतियों और परम्पराओं में वैज्ञानिक दृष्टि को कैसे और अधिक बढावा दिया जा सकता भारत की विविध परम्पराओं और संस्कृतियों में विद्यमान विज्ञान को धर्मगुरु प्रकाशित करने का प्रयास करेंगे।  दरअसल स्थानीय परम्पराएं और संस्कृतियों में अंतर्निहित विज्ञान न सिर्फ अनेक समस्याओं का समाधान दे सकता है, बल्कि आत्मनिर्भर और सशक्त भारत के सपने को साकार भी कर सकता है। 

     वेब-संगोष्ठी के संयोजक डा. अनिल सौमित्र ने बताया कि राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी में मुख्य अभ्यागत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग,  भारत सरकार के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा सचिव होंगे। संगोष्ठी की अध्यक्षता विज्ञान भारती के राष्ट्रीय कार्यकारी सचिव श्री जयंत राव सहस्रबुद्धे, करेंगे।  विषय-प्रवर्तन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सलाहकार और राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद् के अध्यक्ष डा. मनोज कुमार पटेरिया करेंगे। वरिष्ठ पत्रकार हर्षवर्धन त्रिपाठी कार्यक्रम में मोडरेटर की भूमिका में होंगे। डा. सौमित्र ने बताया कि इस वेब-संगोष्ठी में विभिन्न पंथों के प्रतिनिधि वक्ता के रूप में उपस्थित होंगे। सनातन परम्परा का प्रतिनिधित्व दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के स्वामी विशालानंद जी करेंगे, जबकि जमाते उलेमा के अध्यक्ष मौलाना सुहैब कासमी इस्लामिक परम्परा, दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंध समिति के सदस्य सरदार परमजीत सिंह चंडोक सिख परम्परा, उत्तरप्रदेश विधानसभा के मनोनीत सदस्य डा. डेंजिल जॉन गोडिन ईसाई परम्परा, कथाकार और आध्यात्मिक प्रवचनकार साध्वी प्रज्ञा भारती दीदी हिन्दू परम्परा और बी.के. रीना बहन ब्रह्माकुमारी परम्परा में विज्ञान की बात सबके साथ साझा करेंगी। कार्यक्रम का संचालन शिक्षाविद डा. ऋतु दुबे तिवारी करेंगी। कार्यक्रम के संयोजक डा. अनिल सौमित्र ने संस्कृति-परम्परा और विज्ञान संचार में रूचि रखने वाले सभी विद्यार्थियों, शोधार्थियों, संचारकों और अन्य महानुभावों से वेब संगोष्ठी में भागीदारी का आग्रह किया।

वेब संगोष्ठी का आयोजन जूम प्लेटफॉर्म  https://us02web.zoom.us/j/83602311616?pwd=bmZFbjBhOVQvSGoyRUNpa2IvZlUvQT09   पर 18 अक्टूबर दोपहर 3:00 बजे से होगा।

विविध संस्कृतियों में विज्ञान संचार : पंथ-प्रधानों की भूमिका” पर राष्ट्रीय वेबीनार 18 अक्टूबर को



शेयर करे:

रहें हर खबर से अपडेट आशा न्यूज़ के साथ

Next
This is the most recent post.
Previous
Older Post

भोपाल

Post A Comment: