News is Your Email

Popular News

Trending Now
Loading...

श्री मोहृनखेड़ा महातीर्थ में म.प्र. के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का ट्रस्ट मण्डल ने किया अभिनन्दन

आचार्य पद ग्रहण समारोह के साक्षी बनेगे मुख्यमंत्री 
राजगढ (धार): म.प्र. के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मोहृनखेड़ा महातीर्थ में अभिनन्दन समारोह में अपना उद्गार व्यक्त करते हुए कहा की अपने नाम के पीछे जैन शब्द का उपयोग कर लेने से जैन नहीं बन जाता है । जो औरो को जीते वह वीर होता है पर जो स्वयं को जीते वो महावीर होता है जिसने स्वयं को जीत लिया वह जितेन्दीय होकर जिन होता है और वही जिन जैन कहलाता है । यदि सभी लोग जैन बन जायेगें तो दुनिया की सारी समस्याओं का स्वत: समाधान हो जायेगा । ऋषभ बाबजी उसी निर्देश को जैन समाज के लोगों का सहयोग लेकर मानव मात्र के कल्याण के लिये उपयोग कर रहे है और में ऋषभ बाबजी साहब से मोहनखेड़ा महातीर्थ में उर्जा प्राप्त करने आता हूँ इनके दर्शन से आत्मा प्रसन हो जाती है। 
       प.पू ज्योतिष सम्राट मुनिप्रवर श्री ऋषभविजय महाराज साहब ने उज्जैन नगर में क्षिप्रा किनारे गतवर्ष गंदे नाले के पानी से जो नदी में प्रदूषण फैला था उस पर ध्यानाकर्षण कराते हुये उसे भी सही किये जाने का आग्रह किया व मध्यप्रदेश में गायों के पालन के लिए शासन द्वारा गोशालाओ को जो राशि उपलब्ध करायी जाती है उसे बढाने का आग्रह किया । मुनिश्री ने कहा कि योगी जी ने उत्तरप्रदेश में केवल एक माह में अवैध बूचड़खाने संकल्प लिया और में संकल्प जिया और सारे बंद तो गये । आप को 11 वर्ष हो गये है । आप केवल अवैध बूचड़ खाने बंद करवाने का सोच लेंगे तो अधिकारी स्वत: स्वप्रेरणा से बद करवा देंगे।
            नमामि देवी नर्मदे यात्रा के दौरान नर्मदा नदी की पवित्रता पर युवाबोघि मुनिराज श्री रजतचन्द्रविजयजी मसा. ने पत्र सोपते हुये मुख्यमंत्री से कहा कि हमारे देश की नदियां बहुत पवित्र है पर लोग प्राय घर में लगी भगवान की तस्वीर, मंदिर में प्रतिमाओं पर चढाई गयी फूल माला और फूलों से, हवन या घर दी जाने वाली धूप की राख अधजली सामग्री सहित नदी में प्रवाहित करते है । अपने परिजनों की अस्थिया, खंडित प्रतिमा व पूजन सामग्रियां डालकर उसकी पवित्रता को काम कर देते है आप से निवेदन है कि नदी की पवित्रता भी कम ना हो और लोगो की भावनाओं को भी ठेस न पहुंचे इस लिये नदी के आसपास कुंड बनाया जाना चाहिये जिससे नदियों का प्रदूषण ना हो । 
          अभिनन्दन समारोह मेँ ज्योतिष सम्राट मुनिश्री "विद्यार्थी " ने मुख्यमंत्री जी को नयनाभिराम प्रभु श्री पार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा नित्य दर्शन हेतु भेंट कर प्रदेश में पूर्ण उर्जा के साथ प्रदेश वासीयों की सेवा करने का आशीर्वाद प्रदान किया । ट्रस्ट की और से राज्यसभा सांसद मेघराज जैन एवं संजय कोठारी ने मुख्यमंत्रीजी को आगामी 03 मई से ०7 मई के आचार्य पाट महोत्सव कार्यक्रम में पधारने की निमंत्रण पत्रिका दी ।
Share it:

धार

मध्यप्रदेश

राजगढ

Post A Comment:

More from Web