News is Your Email

Popular News

Trending Now
Loading...

मुख्यमंत्री ग्वालियर जिले के ओला प्रभावित किसानों को ढांढ़स बंधाने पहुँचे

       ग्वालियर: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा किसान भाई हिम्मत व हौसला बनाए रखें। संकट की घड़ी में प्रदेश सरकार पूरी ताकत के साथ उनके साथ है। उन्होंने कहा विकास कार्य रूकें तो रूक जाएँ, पर किसानों को राहत देने में धन की कमी नहीं आने दी जायेगी। श्री चौहान ने यह बात ग्वालियर जिले के ग्राम राई में बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को ढांढ़स बंधाते हुए कही। उन्होंने इस दौरान ओला प्रभावित फसलों का जायजा भी लिया। किसानों से हिम्मत एवं हौसला बनाए रखने का आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन किसानों की शत प्रतिशत फसलें नष्ट हो गई हैं, उन्हें अगली फसल आने तक एक रूपए किलो के हिसाब से गेहूँ, चावल व नमक दिया जायेगा। साथ ही ओला प्रभावित क्षेत्रों में कृषि ऋण और बिजली बिल की वसूली स्थगित कर दी गई है।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि ऋण का ब्याज सरकार चुकायेगी। इसके अलावा अगली फसल के लिये सरकार जीरो प्रतिशत ब्याज पर कृषि ऋण मुहैया करायेगी। किसानों को कृषि ऋण की 90 प्रतिशत अदायगी ही करनी होगी। शेष 10 प्रतिशत राशि सरकार भरेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेमौसम एवं ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों के सर्वे का काम पूरी पारदर्शिता के साथ होगा। सर्वे का काम राजस्व, कृषि एवं पंचायत विभाग का अमला संयुक्त रूप से करेगा, जिससे किसी प्रकार की शिकायत की गुंजाइश न रहे। उन्होंने कहा सर्वे की सूची ग्राम पंचायत भवन के सूचना पटल पर प्रदर्शित की जायेगी। सर्वे में किसी प्रकार की शिकायत होने पर किसान की संतुष्टि के लिये दुबारा सर्वे कराया जायेगा। 
       श्री चौहान ने कहा कि राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों के तहत किसानों को 15 हजार रूपए प्रति हैक्टेयर के हिसाब से राहत मुहैया कराई जायेगी। साथ ही प्रभावित किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ भी दिलाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा सरकार की मंशा है कि किसानों को फसल नुकसान की पाई-पाई की भरपाई हो जाए। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की सोयाबीन की फसल बर्बाद हुई थी, उन किसानों के लिये प्रदेश सरकार ने अपने खजाने खोलकर 4 हजार 800 करोड़ रूपए की राहत बांटी थी। इसी तरह ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को भी राहत बांटी जायेगी।
      इस मौके पर स्थानीय विधायक श्री भारत सिंह कुशवाह ने भी अपने विचार व्यक्त किए और बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से प्रभावित गाँवों के किसानों की व्यथा मुख्यमंत्री को सुनाई। इस अवसर पर श्री अरविंद मेनन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव, राज्य बीज निगम के पूर्व अध्यक्ष श्री महेन्द्र सिंह यादव तथा श्री वीरेन्द्र जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, संभाग आयुक्त श्री के के खरे, पुलिस महानिरीक्षक चंबल श्री उमेश जोगा, कलेक्टर डॉ. संजय गोयल, पुलिस अधीक्षक श्री हरिनारायणचारी मिश्रा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीरज कुमार सिंह व अपर जिला दण्डाधिकारी श्री शिवराज वर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी व क्षेत्रीय किसान मौजूद थे।
 प्रभावित किसान की बेटी की शादी के लिये मिलेगी 25 हजार की मदद 
 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्राकृतिक आपदा की इस घड़ी में सरकार किसानों के हर सुख-दु:ख में सहभागी है। बे-मौसम बारिश व ओलों से प्रभावित जिन किसानों की बेटियों की शादी होनी है, उन्हें सरकार 25 हजार रूपए की सहायता मुहैया करायेगी। भले ही वो किसान मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के दायरे में न आते हों। 
 तालाबों की कराई जायेगी मरम्मत 
 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मौके पर यह भी कहा कि मुरार तहसील के पारसेन, जखारा व महेश्वरा आदि तालाबों की मरम्मत कराई जायेगी। जिससे जरूरतमंदों को रोजगार मिले। साथ ही पुरानी जल संरचनाएँ, जल संरक्षण व संवर्धन में उपयोगी साबित हो सकें। स्थानीय विधायक श्री भारत सिंह कुशवाह ने इन तालाबों की मरम्मत की माँग मुख्यमंत्री से की थी। 
 भारी नुकसान देखकर दु:खी हुए 
 ग्वालियर जिले के ग्राम राई पहुँचने के बाद मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सीधे ओला प्रभावित खेतों में पहुँचे। ओलों से नष्ट फसलों को देखकर श्री चौहान काफी दु:खी हुए। उन्होंने खेतों में मौजूद किसान श्री जयराम शर्मा व श्री जयसिंह चौहान आदि से चर्चा कर उनकी दु:ख तकलीफ सुनीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि फसलों की हालत देखकर प्रथम दृष्टया साफ जाहिर हो रहा है कि यहाँ की फसलें शत प्रतिशत नष्ट हो गई हैं। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि सर्वे की औपचारिकता जल्द से जल्द पूरी कर किसानों को राहत वितरित की जाए। 
जिला प्रशासन की सराहना 
 बेमौसम बारिश एवं ओले से प्रभावित फसलों के सर्वे का काम तत्परता से शुरू करने के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर डॉ. संजय गोयल एवं जिला प्रशासन के अमले की सराहना की। साथ ही कलेक्टर से कहा कि सर्वे का काम जल्द से जल्द पूर्ण कर राहत वितरण का काम करें। किसान के दु:ख में सहभागी होने आए मुख्यमंत्री से स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं किसानों ने कहा था कि कलेक्टर द्वारा स्वयं बीते रोज विधायक श्री भारत सिंह कुशवाह के साथ फसलों का जायजा लिया गया है। साथ ही सर्वे का काम भी शुरू हो गया है। 
 प्रारंभिक सर्वे के अनुसार 87 गाँवों की 6754 हैक्टेयर की फसलें प्रभावित 
 कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने बताया कि प्रारंभिक आंकलन के अनुसार गत 7 मार्च को हुई बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से जिले के 87 गाँवों के 7 हजार 357 किसानों की 6 हजार 754 हैक्टेयर रकबे की फसलों को नुकसान पहुँचा है। शुरूआती सर्वेक्षण के मुताबिक 35 गाँवों की फसलों में 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान सामने आया है। इसी तरह 13 गाँवों में 25 से 50 प्रतिशत और 39 गाँवों में 25 प्रतिशत से कम नुकसान होने का अनुमान है।

cm-arrived-in-Gwalior-district-hailstorm-affected-farmers-regain-composure-मुख्यमंत्री ग्वालियर जिले के ओला प्रभावित किसानों को ढांढ़स बंधाने पहुँचे

cm-arrived-in-Gwalior-district-hailstorm-affected-farmers-regain-composure-मुख्यमंत्री ग्वालियर जिले के ओला प्रभावित किसानों को ढांढ़स बंधाने पहुँचे

cm-arrived-in-Gwalior-district-hailstorm-affected-farmers-regain-composure-मुख्यमंत्री ग्वालियर जिले के ओला प्रभावित किसानों को ढांढ़स बंधाने पहुँचे

Share it:

ग्वालियर

मध्यप्रदेश

Post A Comment:

More from Web